हिंदी और मैथिली की प्रख्यात लेखिका उषा किरण खान का पटना में निधन

हिंदी और मैथिली की प्रख्यात लेखिका उषा किरण खान का पटना में निधन

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उषा किरण खान को दी श्रद्धांजलि

विजय शंकर

पटना । हिंदी और मैथिली की प्रख्यात लेखिका उषा किरण खान का पटना में आज निधन हो गया । यह 82 वर्ष की थी और पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रही थीं । कल सुबह 11:30 बजे पटना के दीघा घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा । उनके पार्थिव शरीर को आज और कल पटना के कृष्ण नगर किदवई पुरी स्थित उनके आवास पर अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा ।

दरभंगा जिले के लहेरिया सराय की रहने वाली उषा जी पद्मश्री समेत कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित हुई थी । उन्हें साहित्य अकादमी और भारत भारतीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

उषा किरण खान बिहार के साहित्य जगत में एक ऐसा नाम था जो सदैव याद रखा जाएगा । सहज स्वभाव, मिलनसार और साहित्य के लिए बेहद प्रेम रखने वाली उषा किरण खान को बिहार की जनता और बिहार के साहित्यकार कभी भूल नहीं पाएंगे। इनके पति पुलिस सेवा में एक कड़क अधिकारी के रूप में बिहार में सदैव चर्चा में रहे ।

प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ० उषा किरण खान के निधन पर मुख्यमंत्री ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त की

पटना : मुख्यमंत्री श्नीतीश कुमार ने प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ० उषा किरण खान के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है।मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि स्व० डॉ० उषा किरण खान प्रसिद्ध साहित्यकार एवं लेखिका थीं। उन्होंने हिन्दी एवं मैथिली साहित्य में कई उपन्यासों, कथाओं की रचना की थी। डॉ० उषा किरण खान को पद्मश्री तथा साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। डॉ० उषा किरण खान के निधन से हिन्दी एवं मैथिली साहित्य जगत् को अपूरणीय क्षति हुयी है।मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शांति तथा उनके परिजनों को दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *