वर्षों से अनुबंध पर कार्यरत एएनएम को बिना परीक्षा लिए हुए काउंसलिंग कराते हुए स्थाई नियुक्ति करने की मांग को लेकर आज 23 वाॕ दिन भी गर्दनीबाग मे डटी रही – संविदा एएनएम

नव राष्ट्र मीडिया
पटना ।

बिहार तकनीकी चयन आयोग के विज्ञापन 7/ 22 के आलोक में काउंसलिंग कराकर सेवा स्थाई करने की मांग को लेकर आज भी 23 वाॕ दिन अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहा और नए विज्ञापन को रद्द कराने हेतु राज्य स्वास्थ्य समिति का ए एन एम ने घेराव कर राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की ।

वर्ष 2018 में गठित एएनएम नियमावली के आलोक में हजारों नियुक्तियां हुई है तथा उसी नियमावली के अनुसार वर्ष 2022 मे *बिहार तकनीकी चयन आयोग* के माध्यम से 10709 पदों पर ANM की वैकेंसी निकाली गई और उस आवेदन का स्क्रूटनी भी की गयी तथा अभ्यर्थियों से सूची प्रकाशित कर आपत्ति भी मांगी गयी । लेकिन अचानक राज्य सरकार द्वारा 1 जून 2023 को वर्ष 2018 से गठित पूर्व की नियमावली को रद्द कर नई नियमावली वर्ष 2023 गठित कर दिया गया और इस आधार पर *बिहार तकनीकी चयन आयोग द्वारा दिनांक 19 सितंबर 2023 को एक नया विज्ञापन (संशोधित विज्ञापन )** जारी कर दिया गया इस तरह नई नियमावली के अनुसार परीक्षा लेना और साथ ही साथ पुराने वैकेंसी में ही नए लोगों से पुन: आवेदन लेने का अवसर प्रदान किया गया है जो बरसों से कार्यरत एएनएम के साथ अन्याय है ।

इसलिए *बिहार संविदा एएनएम संघर्ष मोर्चा के नेतृत्व में स्वास्थ्य सचिव सह कार्यपालक निदेशक राज्य स्वास्थ्य समिति का का घेराव किया और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की ।*
लेकिन राज्य स्वास्थ्य समिति मे कार्यपालक निदेशक महोदय के उपलब्ध नहीं रहने के कारण प्रदर्शन /घेराव के उपरांत उनके अधीनस्थ पदाधिकारी से संघर्ष मोर्चा के प्रतिनिधियों से वार्ता कराई गई । वार्ता में राज्य स्वास्थ्य समिति के उपनिदेशक महोदय द्वारा मोर्चा के प्रतिनिधि मंडल को बताया गया कि आपकी मांगे जायज है ,आप अपना आवेदन दीजिए , मैं इस संबंध में सरकार को आपकी भावनाओं से अवगत कराने का प्रयास करूंगा । उन्होंने यथासंभव मदद करने का भी आश्वासन दिया । उसके बाद सभी एएनएम धरना स्थल गर्दनीबाग पटना में वापस आ गई ।
इस आशय की जानकारी अर्चना कुमारी ,संयोजिका एवं उषा कुमारी , सहसंयोजिका ने दी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *