बीजेपी के पास केवल 7 मुद्दे, इनके बिना चुनाव लड़े तो 100 सीट भी नहीं मिलेगी : तेजस्वी यादव

संविधान बदलने की कोशिश करने वालों की जनता आंख निकाल लेगी, लालू प्रसाद

नव राष्ट्र मीडिया

पटना।
बिहार में लालू प्रसाद यादव और तेजस्वी यादव दोनों बाप बेटे मिलकर भाजपा पर जमकर हमले कर रहे हैं। अलग-अलग चुनावी सभा में भाजपा पर वार कर रहे हैं। जहां लालू प्रसाद , भाजपा पर संविधान बदलने की साजिश रचने की बात कह रहे हैं और ऐसा करने वालों की आंख निकालने की चेतावनी दे रहे हैं ।
वहीं दूसरी ओर तेजस्वी यादव खुलेआम कर रहे हैं कि भाजपा यदि कुछ संवेदनशील से मुद्दों को नहीं उठाये तो उसे पूरे देश में 100 सीटें भी नहीं मिलेंगी। दोनों पिता, पुत्रों के हमले से बीजेपी बिहार में खुद को असहज महसूस कर रही है।
नेता प्रतिपक्ष और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी प्रसाद यादव ने आज फिर यह दावा किया है कि विपक्षी दलों को लोकसभा चुनाव में बराबरी का मौका नहीं दिया गया है।
बराबरी का मौका मिल जाए तो भारतीय जनता पार्टी 100 लोकसभा सीट भी नहीं जीत पाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस लोकसभा चुनाव के बाद दो तिहाई बहुमत से तीसरी बार सरकार बनाने के लिए ‘अबकी बार, 400 पार’ का नारा दिया है। पार्टी के सारे नेता हर रैली और सभा में दोहरा रहे हैं । वे लोगों से पूछ भी रहे हैं कि इस बार 400 पार करोगे या नहीं।
तेजस्वी यादव ने मीडिया से बातचीत का वीडियो सोमवार की सुबह पोस्ट करके सोशल मीडिया पर लिखा है कि भाजपा अगर इन सात चीजों को दरकिनार करके मुद्दों पर चुनाव लड़े तो इनको 100 लोकसभा सीट भी नहीं आएगी।
उन्होंने चुनौती देते हुए कहा है कि भाजपा इन सात बातों के बिना लड़ ही नहीं सकती। तेजस्वी ने इन सात चीजों में मंदिर-मस्जिद, हिन्दू-मुस्लिम, गोदी मीडिया, सीबीआई, ईडी,इनकम टैक्स, चुनाव आयोग जैसी संवैधानिक संस्थाओं के दुरुपयोग, ईवीएम, इलेक्टोरल बॉन्ड जैसे धनबल और छलबल का नाम लिया है। उन्होंने कहा है कि अगर भाजपा लेवल प्लेइंग फील्ड पर खेले तो सौ सीट भी नहीं जीत पाएगी।
दूसरी ओर लालू प्रसाद बोल रहे हैं कि देश में अगर किसी ने भी संविधान बदलने की सोची तो जनता उसकी आंख निकाल देगी ।
लालू प्रसाद यादव ने कहा कि भाजपा में काफी घबराहट है। ये लोग 400 पार की बात घबराहट में कर रहे हैं। हकीकत में इनका जनाधार तेजी से खत्म हो रहा है जनता के बीच इनकी पोल खुल गई है। इसलिए यह लोग ऊंची जाति को भरमाने के लिए संविधान बदलने की बात कर रहे हैं। जबकि ऐसा होने पर पूरा बहुजन समाज शांत नहीं बैठेगा।
इनके नेता खुले में बोल रहे हैं कि हम संविधान को बदल देंगे। ये बाबसाहेब अंबेडकर के द्वारा बनाया गया संविधान है। जो भी संविधान को बदलने की कोशिश करेगा देश की दलित, पिछड़े और गरीब जनता इनकी आंख निकाल लेगी। देश की जनता माफ नहीं करेगी। ये तानाशाही लाना चाहते हैं, संविधान को बदलने का मतलब है लोकतंत्र को बदलना। कहा कि यूपी के बीजेपी सांसद लल्लू सिंह ने भी कहा था कि सरकार तो 272 सीटों पर ही बन जाती है, लेकिन संविधान बदलने या संशोधन करने के लिए दो तिहाई सीटों की जरूरत होती है। संविधान को बदलना यानी लोकतंत्र को खत्म करना है। लालू ने बीजेपी के 400 पार वाले नारे पर भी तंज कसा।
लालू ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत बीजेपी के नेता घबराहट में हैं। वे मान कर बैठे हैं कि लोकसभा चुनाव में हार रहे हैं। इसलिए वे 400 पार सीटें लाने की बात कर रहे हैं। वे जनता के बीच जाकर लोगों से भारी बहुमत मांग रहे हैं, ताकि संविधान को बदल सकें। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी को याद होगा, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने देश में आरक्षण पर पुनर्विचार की बात कही थी। उस समय जनता ने इनके इरादे को पूरी तरह नेस्तनाबूद कर दिया था। वही हाल इस बार भी होगा। बीजेपी फिर से पुरानी वाली स्थिति पर पहुंच जाएगी। कहा कि बीजेपी के नेता खुल्लमखुल्ला क्यों बोल रहे हैं कि संविधान को बदल देंगे। उन्होंने कहा, यह बाबा साहेब अंबेडकर का बनाया हुआ संविधान है, किसी ऐरे-गैरे बाबा का बनाया हुआ नहीं है। खबरदार इस तरह का साहस किया तो जनता चुप नहीं बैठेगी। संविधान बदलकर ये देश से लोकतंत्र को खत्म करना चाहते हैं।” जिसको 90% जनता कभी बर्दाश्त नहीं करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *