आयुक्त की अध्यक्षता में पटना हवाई अड्डा पर्यावरण प्रबंधन समिति (एइएमसी) की बैठक हुई

सभी स्टेकहोल्डर्स के बीच सार्थक समन्वय एवं सुदृढ़ संवाद की आवश्यकता पर आयुक्त ने दिया बल
खुले में मांस-मछली की दुकानों को नियंत्रित करने तथा कूड़े के उचित निस्तारण के लिए नगर कार्यपालक पदाधिकारियों को नियमित तौर पर नोटिस चिपकाने एवं वाल पेंटिंग कराने का दिया गया निदेश
दुकानदारों को ऐक्ट के प्रावधानों के प्रति नियमित तौर पर जागरूक करें; जन-सुरक्षा के महत्व के बारे में संवेदीकरण अभियान चलाएँः आयुक्त

नवराष्ट्र मीडिया ब्यूरो

पटना : आयुक्त, पटना प्रमंडल, पटना-सह-अध्यक्ष, विमानपत्तन पर्यावरण प्रबंधन समिति, पटना कुमार रवि ने जयप्रकाश नारायण अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा पर सर्वाेत्तम नागरिक सुविधाओं की उपलब्धता तथा उच्चतम सुरक्षात्मक मानकों का अनुपालन सुनिश्चित करने का निदेश दिया है। वे आज पटना एयरपोर्ट के सभाकक्ष में विमानपत्तन पर्यावरण प्रबंधन समिति (एइएमसी) की बैठक में अध्यक्षीय संबोधन कर रहे थे। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि सुरक्षित एयर ट्रैफिक सुनिश्चित करना प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। उन्होंने इसके लिए सभी भागीदारों (स्टेकहोल्डर्स) के बीच सार्थक समन्वय एवं सुदृढ़ संवाद की आवश्यकता पर बल दिया। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि एयरपोर्ट सार्वजनिक सुविधा का अत्यंत महत्वपूर्ण केन्द्र है तथा प्रशासन के लिए यात्रियों की सुरक्षा सर्वाेपरि है। इसके लिए पर्यावरणीय प्रबंधन एवं सतत विकास के मूलभूत सिद्धांतों को ध्यान में रखना पड़ेगा। पर्यावरण प्रबंधन के वैश्विक मानकों के अनुसार एयरपोर्ट का संचालन आवश्यक है।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि विमानन सुरक्षा नियामक नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) द्वारा सभी हवाई अड्डों के सुरक्षित संचालन के लिए मानक निर्धारित किया गया है। इसका अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।

नगर निकाय, फुलवारीशरीफ एवं नूतन राजधानी अंचल के पदाधिकारी द्वारा आयुक्त के संज्ञान में लाया गया कि खुले में मांस-मछली की दुकानों को नियंत्रित करने तथा कूड़े के उचित निस्तारण के लिए नोटिस चिपकाने तथा वाल पेंटिंग कराने का कार्य किया गया है। आयुक्त श्री रवि ने नगर कार्यपालक पदाधिकारियों को ऐक्ट एवं रूल्स के प्रावधानों के साथ नियमित तौर पर नोटिस चिपकाने तथा वाल पेंटिंग कराने का निदेश दिया। आयुक्त ने पक्षियों के आकर्षण स्रोतों यथा दुकानों एवं कूड़ों का मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के अनुसार क्रमशः संचालन एवं निस्तारण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि दुकानदारों को ऐक्ट के प्रावधानों के प्रति नियमित तौर पर जागरूक करें। जन-सुरक्षा के महत्व के बारे में संवेदीकरण अभियान चलाएँ। साथ ही खुले में मांस-मछली की दुकानों पर लगातार नजर रखें। प्रावधानों का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध विधि-सम्मत दंडात्मक एवं कानूनी कार्रवाई करें। पशु क्रूरता अधिनियम, प्रदूषण नियंत्रण अधिनियम तथा अन्य प्रासंगिक अधिनियमों का अनुपालन सुनिश्चित करें।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि खुले में मांस एवं मछली की गतिविधि न केवल सुरक्षित एयरक्राफ्ट ऑपरेशन के लिए खतरा है बल्कि यह लोक स्वास्थ्य के प्रति भी प्रत्यक्ष चुनौती है। उन्होंने कहा कि विमानों एवं यात्रियों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से यह आवश्यक है कि पटना एयरपोर्ट के आस-पास के क्षेत्रों में पक्षियों के आकर्षण के स्रोत को कम किया जाए। उन्होंने कहा कि पक्षियों के अधिकतम जमावड़े वाले स्थान को हटाना जीवन-सुरक्षा के लिए आवश्यक है। उन्होंने नगर निकायों के कार्यपालक पदाधिकारियों को एयरक्राफ्ट रूल्स, 1937 के नियम 91 के प्रावधान के अनुसार हवाई अड्डा के निर्धारित त्रिज्या क्षेत्र में एसओपी के अनुसार दुकानों का संचालन कराने तथा कूड़े का समुचित निस्तारण करने एवं साफ-सफाई सुनिश्चित करने का निदेश दिया ताकि बर्ड-हीट की घटना पर नियंत्रण पाया जा सके। विदित हो कि आयुक्त श्री रवि द्वारा इस उद्देश्य हेतु पूर्व में नगर परिषद, फुलवारीशरीफ एवं नूतन राजधानी अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी, एजीएम नागर विमानन विभाग, पटना हवाई अड्डा तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी, फुलवारीशरीफ की अध्यक्षता में एक टीम का गठन किया गया था। निदेशक, नागर विमानन विभाग, पटना हवाई अड्डा द्वारा आयुक्त श्री रवि के संज्ञान में लाया गया कि जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षात्मक दृष्टिकोण से नगर परिषद फुलवारीशरीफ क्षेत्र में अनेक दुकानों को हटाया गया है। नूतन राजधानी अंचल अंतर्गत कई स्थानों पर से अतिक्रमण हटाया गया है। नूतन राजधानी अंचल एवं फुलवारीशरीफ नगर परिषद द्वारा नियमित तौर पर अभियान चलाया जा रहा है, खुले में मांस एवं मछली की दुकानों को नियंत्रित करने के लिए नोटिस चिपकाया गया है तथा कूड़ा निस्तारण किया जा रहा है। आयुक्त श्री रवि ने इस टीम को सक्रिय एवं तत्पर रहने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जा सकता है। इसके लिए पदाधिकारीगण हर संभव प्रयास करें।

आयुक्त ने सक्षम प्राधिकार से विधिवत अनुमोदन प्राप्त कर कैट-। लाईट के अधिष्ठापन, डॉप्लर वेरी हाई फ्रिक्वेंसी ओम्नि डायरेक्शनल रेंज (डीवीओआर) के कमिशनिंग कार्य में सुगमता एवं ऑप्टिकल लैंडिग सिस्टम (ओएलएस) सर्वे के अनुसार पेड़ों की छंटाई हेतु कार्रवाई करने का निदेश दिया गया।

आयुक्त श्री रवि द्वारा इस बैठक में पूर्व के बैठक में लिए गए निर्णयों के आलोक में अनुपालन की स्थिति की समीक्षा की गई तथा अद्यतन प्रगति का जायजा लिया गया। निदेशक, नागर विमानन विभाग, पटना हवाई अड्डा श्री अंचल प्रकाश द्वारा पावर प्वाईंट प्रिजन्टेशन के माध्यम से एयरपोर्ट की सुरक्षा एवं विकास के बारे में जानकारी दी गयी। पटना एयरपोर्ट के चल रहे विस्तार एवं विकास कार्यों के मद्देनजर यातायात प्रवाह प्रबंधन एवं सुरक्षात्मक मुद्दों पर विस्तार से विमर्श किया गया। कैट-। लाईट का अधिष्ठापन, डीवीओआर का कमिशनिंग, ओएलएस सर्वे के अनुसार अतिरिक्त पेड़ों की छंटाई, बिहटा एयरफोर्स स्टेशन परिसर से नीलगायों का स्थानान्तरण, पटना एयरपोर्ट के नजदीक कूड़े का उचित निस्तारण सहित सभी सुरक्षात्मक कार्य-बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा की गई। सुगम यातायात हेतु एयरपोर्ट की व्यवस्था के बारे में निदेशक ने विस्तार से बताया।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि पथ निर्माण विभाग, पटना नगर निगम, वन एवं पर्यावरण विभाग, नगर विकास विभाग, पटना पुलिस, यातायात, जैविक उद्यान, विद्युत विभाग सहित सभी विभागों के पदाधिकारियों को आपस में समन्वय स्थापित करते हुए पटना हवाई अड्डा पर सुरक्षित एयर ट्रैफिक हेतु अपेक्षित कार्यों का ससमय सम्पादन करें।

निदेशक, नागर विमानन विभाग, पटना हवाई अड्डा श्री प्रकाश ने बताया कि फ्लाईट सुरक्षा हेतु नियमित अंतरालों पर पेड़ों की छंटाई किया जाना आवश्यक है। इसके लिए संजय गाँधी जैविक उद्यान के निदेशक के साथ नियमित तौर पर समन्वय करते हुए आवश्यक कार्रवाई की जाती है। श्री रवि ने वन विभाग के पदाधिकारी को एयरक्राफ्ट एक्ट, 1934 के प्रावधानों के तहत अब्सटैकल लिमिटेशन सर्वे के अनुसार बाधाओं को हटाने एवं पेड़ों की छंटाई करने का निर्देश दिया।

आयुक्त श्री रवि ने नगर विकास एवं आवास विभाग के पदाधिकारियों को पटना एयरपोर्ट के आस-पास के क्षेत्र में साफ-सफाई के लिए नियमित तौर पर विशेष अभियान संचालित करने तथा ड्रेनेज सिस्टम को सुदृढ़ रखने का निदेश दिया।

नगर निगम द्वारा प्रमंडलीय आयुक्त के संज्ञान में लाया गया कि नगर निगम की टीम द्वारा पटना एयरपोर्ट परिसर से नियमित तौर पर आवारा कुत्तों को पकड़ा जाता है। आयुक्त श्री रवि ने इस पर हर्ष व्यक्त करते हुए पटना एयरपोर्ट परिसर से आवारा कुत्तों को पकड़ने के लिए लगातार अभियान चलाने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि नगर निगम की कुत्ता पकड़ने वाली टीम सप्ताह में कम-से-कम एक बार पटना हवाई अड्डा क्षेत्र का भ्रमण करेगी एवं आवारा कुत्ता को पकड़ेगी। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि यह ट्रैफिक सुरक्षा के लिए आवश्यक है।

आयुक्त श्री रवि ने बिहटा एयरफोर्स स्टेशन परिसर से नीलगायों की समस्या को दूर करने के लिए वायुसेना, वन विभाग एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों को नियमानुसार अपेक्षित कार्रवाई करने का निदेश दिया।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि हवाई अड्डा पर्यावरण प्रबंधन समिति के दिशा-निदेशों के अनुरूप सभी पदाधिकारियों को सुरक्षित यातायात प्रबंधन एवं एयर ट्रैफिक सुरक्षा सुनिश्चित करना होगा।

इस बैठक में आयुक्त के साथ जिलाधिकारी, पटना श्री शीर्षत कपिल अशोक, वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना श्री राजीव मिश्रा, नगर आयुक्त, पटना नगर निगम श्री अनिमेष कुमार परशर, वन प्रमंडल पदाधिकारी, निदेशक, नागर विमानन विभाग, पटना विमानपत्तन श्री अंचल प्रकाश, कमान्डिंग ऑफिसर भारतीय वायुसेना, बिहटा, क्षेत्रीय विकास पदाधिकारी, पटना प्रमंडल, संजय गाँधी जैविक उद्यान के निदेशक, समादेष्टा केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल, पटना हवाई अड्डा, मंडल रेल प्रबंधक, दानापुर के प्रतिनिधि, नगर निकायों के कार्यपालक पदाधिकारी एवं अन्य भी उपस्थित थे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *