निर्वाचक सूची का अंतिम प्रकाशन 05 जनवरी, 2024 को

निर्वाचक सूची का अंतिम प्रकाशन 05 जनवरी, 2024 को

नवराष्ट्र मीडिया ब्यूरो

पटना । जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह द्वारा दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम में प्रगति की आज समीक्षा की गयी। उप निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा जिलाधिकारी के संज्ञान में लाया गया कि पटना ज़िले में विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अवधि में 27 अक्टूबर, 2023 से अद्यतन 1,60,000 से अधिक फॉर्म-6 प्राप्त हुआ जो राज्य में सर्वाधिक है। सभी ज़िलों में पटना का प्रथम स्थान है।

जिलाधिकारी द्वारा इस पर हर्ष व्यक्त करते हुए सभी निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों (ईआरओ), सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों (एईआरओ), मतदान केंद्र स्तरीय पदाधिकारियों (बीएलओ) सहित सभी संबंधित विभागों के पदाधिकारियों एवं कर्मियों को बधाई दी गई। उन्होंने कहा कि पुनरीक्षण कार्य में सभी ने अच्छा कार्य किया है। बेहतर प्रदर्शन करने वाले निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों (ईआरओ), सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों (एईआरओ), मतदान केंद्र स्तरीय पदाधिकारियों (बीएलओ) एवं अन्य संबंधित अधिकारियों को पुरस्कृत किया जाएगा।

ज़िलाधिकारी ने कहा कि अधिकारियों ने तेज़ी से कार्य किया है तथा लक्ष्य को हासिल करने के लिए काफ़ी परिश्रम किया है। सभी निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों (ईआरओ) तथा सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों (एईआरओ) ने फोकस्ड एवं टार्गेटेड ढंग से कार्य किया है।

महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में वृहद स्तर पर मतदाता जागरूकता अभियान चलाया गया है। शैक्षणिक संस्थानों में निर्वाचन साक्षरता क्लब का नियमित आयोजन किया गया । छात्र-छात्राओं के बीच इन्टरेक्टिव सेशन आयोजित कर युवा एवं महिला निर्वाचकों को निर्वाचन प्रक्रिया में सक्रिय रूप से भागीदारी के लिए प्रोत्साहित किया गया । निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों तथा सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों द्वारा महाविद्यालयों, महिला महाविद्यालयों तथा अन्य शैक्षणिक संस्थानों सहित पूरे क्षेत्र में सघन मतदाता जागरूकता अभियान चलाया गया एवं पंजीकरण का कार्य किया गया । मतदाताओं को निर्वाचन सूची में पंजीकरण के लिए प्रयुक्त होने वाले विभिन्न प्रपत्रों तथा प्रक्रिया की जानकारी दी गयी। सभी प्रपत्रों में ऑन-लाईन आवेदन हेतु वोटर सर्विस पोर्टल तथा वोटर हेल्प लाईन ऐप का प्रयोग हेतु प्रोत्साहित किया गया।

अधिकारियों द्वारा जिला में निर्वाचन साक्षरता, पंजीकरण तथा निर्वाचन प्रक्रिया से संबंधित स्वीप गतिविधि के तहत विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया ।

विकास मित्रों, तालिमी मरकज, जन वितरण प्रणाली के विक्रेताओं, आईसीडीएस, आशा कार्यकर्ताओं, जीविका दीदियों, प्रखंड कल्याण पदाधिकारियों एवं अन्य ने इस अभियान में सक्रिय रूप से सहयोग दिया ।

सभी स्टेकहोल्डर्स यथा शिक्षा, कल्याण, ग्रामीण विकास, समाज कल्याण, बैंकिग, पंचायती राज, स्वास्थ्य विभाग, नागरिक समाज एवं अन्य ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, 2024 कार्यक्रम चल रहा है। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार निर्वाचक सूची का प्रारूप प्रकाशन 27 अक्टूबर, 2023 (शुक्रवार) को किया गया है। दावा एवं आपत्ति दिनांक 09 दिसम्बर, 2023 (शनिवार) तक दिया जा सकता है। दिनांक 26 दिसम्बर, 2023 (मंगलवार) तक दावों एवं आपत्तियों का निष्पादन किया जाएगा। निर्वाचक सूची का अंतिम प्रकाशन दिनांक 05 जनवरी, 2024 को किया जाएगा।

डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि योग्य मतदाताओं को सहायता के लिए सम्पूर्ण निर्वाचन तंत्र तत्पर है।
भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचक सूची में पंजीकरण के लिए एक कैलेण्डर वर्ष में चार अर्हता तिथियाँ निर्धारित की गयी हैं। वे सभी योग्य व्यक्ति जो वर्ष में चार अर्हता तिथियो 1 जनवरी, 1 अप्रैल, 1 जुलाई, 1 अक्टूबर मे से किसी भी अर्हता तिथि को 18 वर्ष की आयु पूरी कर रहे हों, निर्वाचक सूची में पंजीकरण के लिए ऑफलाइन या ऑनलाईन आवेदन फार्म 6 में कर सकते हैं।

ज़िलाधिकारी ने अधिकारियों को निदेश दिया कि चुनाव में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए गाँव-गाँव में अभियान चलाएँ तथा लोगों को मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में मतदान के प्रति उदासीनता अच्छी स्थिति नहीं है। इसमें परिवर्तन लाने के लिए स्वीप गतिविधि अंतर्गत नियमित तौर पर कार्यक्रम का आयोजन करें। जिन मतदान केन्द्रों पर पूर्व के चुनावों में कम वोटर टर्नआउट हुआ है वहाँ सघन जागरूकता अभियान चलाएँ। मतदाताओं को उनके मत का महत्व बताएँ तथा मतदान करने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि जागरूक मतदाता हमारे समृद्ध लोकतंत्र की रीढ़ हैं। चुनावों में उच्च मतदान प्रतिशत इसे एक नया आयाम देगा।

ज़िलाधिकारी ने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया में हम सबको सकारात्मक ढंग से शामिल होना चाहिए। हम सभी स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण, भयमुक्त तथा सहभागितापूर्ण चुनाव सम्पन्न कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *