निरीक्षण के दौरान ड्रेनेज सिस्टम को दुरुस्त करने का दिया निर्देश

गया। बोधगया स्थित आईआईएम संस्थान का डीएम डॉ त्यागराजन एसएम निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान डीएम डॉ त्यागराजन ने पूरे कैम्पस का मुआयना किया। कैम्पस के ड्रेनेज सिस्टम की जानकारी ली। उन्होंने लघु जल संसाधन विभाग के अभियंता, कार्यपालक अभियंता नगर परिषद बोधगया को संयुक्त रूप से विजिट कर ड्रेनेज सिस्टम को बनाने को कहा। इसके अलावा बोधगया दोमुहान से आईआईएम पहुच पथ ठीक कराने हेतु एनएच के प्रोजेक्ट डायरेक्टर को निर्देश दिया। वहीं आरसीडी के कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया कि सिकड़िया मोड़ से एयरपोर्ट होते हुए दोमुहान तक किये जा रहे सड़क चौड़ीकरण का कार्य तेजी से पूर्ण कराएं।

इस मौके पर आईआईएम डायरेक्टर ने बताया की इसकी स्थापना 31 अगस्त 2015 को हुआ था। इन वर्षों में बोधगया आईआईएम नई ऊंचाइयों को छुआ। कोविड-19 के चुनौतियों के बीच कंपनियों ने आईआईएम बोधगया के छात्रों पर भरोसा किया है। इस संस्थान में पढ़ रहे छात्रों का 100% प्लेसमेंट हुआ है। इस संस्थान का शोध के लिए अमेरिका के हार्वड बिजनेस स्कूल के साथ टाई-अप है। आईआईएम बोधगया की कई विशेषताएं हैं जिसमे फाइनेंस, मार्केटिंग, एचआर मैनेजमेंट शामिल है। इसके अलावा यहां ऑपरेशन, इकॉनोमिक्स, पब्लिक पॉलिसी, ऑर्गेनाइजेशन बिहेवियर में भी। यहां पर पोस्टग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट की पढ़ाई होती है। बोधगया संस्थान में प्रबंधन कौशल के लिए कई एजुकेशन प्रोग्राम द्वारा प्रशिक्षण देने की सुविधा है। वहीं पीएचडी के लिए इकोनॉमिक्स, फाइनेंस, मार्केटिंग, ऑपरेशन्स, आईटी क्षेत्रो में छात्रों को जगह दी गई है। इंटर के बाद आईपीएम कोर्स भी चल रहा है। बतादें कि आईआईएम को एमयू ने 118.82 एकड़ भूमि स्थानन्तरित किया है। इसमें 71 एकड़ मगध विश्वविद्यालय परिसर के अंदर और शेष 47 एकड़ विश्वविद्यालय परिसर के बाहर है।
आईआईएम बोधगया 412 करोड़ रुपये की लागत से निर्माण कार्य सीपीडब्ल्यूडी ( सेंट्रल पब्लिक वर्क्स डिपार्मेंट) द्वारा करवाया जा रहा है। मार्च- अप्रैल 2024 तक हैंड ओवर होने की संभावना है। कैंपस में अकैडमिक ब्लॉक, लाइब्रेरी, स्मार्ट क्लास, सिमुलेशन लैब, कंप्यूटर लैब, ऑडिटोरियम, मैनेजमेंट डेवलपमेंट प्रोग्राम बिल्डिंग, स्टाफ क्वार्टर बिल्डिंग, प्रोफेसर क्वार्टर बिल्डिंग, होस्टल बिल्डिंग, स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में बास्केटबॉल कोट, बैडमिंटन कोट, मॉडल जिम, योगा रूम, क्रिकेट स्टेडियम शामिल है।
आईआईएम बोधगया में मुख्य रूप से 5 प्रोग्राम कोर्स फुल्ली आवासीय है, उसमे पीएचईडी, एमबीए कोर्स, आईपीएम, एमबीए डिजिटल मैनेजमेंट, एमबीए हॉस्पिटलिटी एंड हेल्थ की कोर्स शामिल है। वर्तमान समय मे 1100 से अधिक विद्यार्थी यहां नामांकित हैं।
निरीक्षण में डायरेक्टर आईआईएम, आईआईएम के वरीय पदाधिकारी, सहायक समाहर्ता, अपर समाहर्ता राजस्व, अनुमंडल पदाधिकारी सदर, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी बोधगया, अपर समाहर्ता विधि व्यवस्था, ज़िला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी, ज़िला आपूर्ति पदाधिकारी, कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद बोधगया, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *