vijay shankar

पटना। बिहार बीजेपी वाणिज्य प्रकोष्ठ के संयोजक प्रो. डॉ. जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता, प्रभारी योगेंद्र शर्मा, सह संयोजक महेश पंसारी, नितिन कुमार ‘रिंकू’, कोषाध्यक्ष रवि गुप्ता, सह कोषाध्यक्ष अर्जुन कुमार शांति लाल , सौरभ भगत, प्रवक्ता अमर कुमार बबलू एवं महिला विंग के संयोजक डॉ. सुनंदा केसरी ने संयुक्त रूप से बुधवार को वाणिज्य प्रकोष्ठ का विस्तार करते हुए प्रदेश पदाधिकारी की सूची जारी की। वाणिज्य प्रकोष्ठ ने अपने सूची में प्रभारी संयोजक 8 सह संयोजक, कोषाध्यक्ष, दो सह कोषाध्यक्ष, 20 क्षेत्रीय प्रभारी और 20 प्रदेश कार्यसमिति सदस्य को जगह दी है। वहीं महिला विभाग, आईटी सेल, मुख्य प्रवक्ता, 4 प्रवक्ता, सोशल मीडिया, प्रशिक्षण विभाग व प्रचार प्रसार विभाग के प्रभारी के अलावा कार्यालय मंत्री, सह कार्यालय मंत्री की भी सूची जारी की है।

 

पत्रकारों को संबोधित करते हुए नेताओं ने कहा कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने वाणिज्य प्रकोष्ठ का गठन करके व्यापारियों के हित में बहुत बड़ा कदम उठाया है। भरोसा दिलाता हूं कि प्रकोष्ठ पूरे बिहार में व्यापारियों एवं वैश्य समाज को सुरक्षा प्रदान करने का कार्य करेगी। उन्होंने कहा कि व्यापारियों से अनर्गल टैक्स वसूला जाता है, उसकी रोकथाम के लिए पूरे बिहार में अभियान चलाकर व्यापारियों को एकजुट करने का काम करेंगे। नेताओं ने कहा कि नवगठित प्रदेश पदाधिकारी का सम्मान समारोह का आयोजन आगामी 29 दिसंबर को प्रदेश भाजपा कार्यालय के प्रांगण में आयोजित किया गया है। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अविलंब बिहार राज्य उद्यमी एवं व्यवसायिक आयोग गठन करने की मांग की है ताकि आयोग के माध्यम से व्यापारियों के विभिन्न समस्याओं का समाधान किया जा सके। आगे कहा कि अगर सरकार मांगों को अनसुनी करती है तो बिहार में भाजपा की सरकार बनने पर व्यावसायिक आयोग का गठन कराने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा।

इस दौरान प्रो. डॉ. जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता ने जदयूू पर हमला बोलते हुए कहा कि जदयू की सरकार बिहार में व्यापारियों को सुरक्षा देने में पूरी तरह से विफल रही है। मैं मुख्यमंत्री से पूछना चाहता हूं कि 18 वर्षों के शासनकाल में बिहार सरकार ने अपने मंत्रिमंडल में एक भी वैश्य को मंत्री क्यों नहीं बनाया और ना ही राजनीतिक के महत्वपूर्ण पदों पर ही जगह दी। उन्होंने कहा कि आज जदयू के नेता वैश्यों की बात करके वैश्य समाज को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने हमेशा वैश्य समाज की चिंता की है और आगे भी करती रहेगी। उन्होंने आगे कहा कि भाजपा के द्वारा जो बिहार में प्रधानमंत्री की ओर से विकास संबंधी कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं उस कार्यक्रम को वाणिज्य प्रकोष्ठ के पदाधिकारी, जिला संयोजक एवं अन्य शुभचिंतक कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *