Kishanganj:छठ घाटों की स्वच्छता एवं सुरक्षा से समझौता नहीं, समुचित व्यवस्था है जरूरी: डीएम

Kishanganj:छठ घाटों की स्वच्छता एवं सुरक्षा से समझौता नहीं, समुचित व्यवस्था है जरूरी: डीएम

*छठ घाटों सहित आने-जाने वाले मार्गों की कराएं समुचित साफ-सफाई : डीएम

सुबोध,

किशनगंज 14 नवंबर। जिले सभी विभिन्न छठ घाटों की स्वच्छता एवं सुरक्षा से समझौता नहीं , समुचित व्यवस्था है जरूरी। छठ महापर्व की तैयारी को लेकर एसएचओ तथा सम्पन्न*जिला स्तरीय संबंधित पदाधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक में जिलाधिकारी तुषार सिंगला ने सभी संबंधित विभागीय अधिकारियों को दिया निर्देश। जिलाधिकारी ने अधिकारियों से कहा कि पूर्व के पर्व-त्योहारों को शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने में सभी अधिकारियों एवं कर्मियों का योगदान सराहनीय है। उन्होंने कहा कि छठ महापर्व 17 नवंबर को नहाय खाय से प्रारंभ होकर 18 नवंबर को खरना, 19 नवंबर को अस्ताचलगामी भगवान सूर्य को प्रथम अर्घ्य एवं 20 नवंबर को उदीप्तमान भगवान सूर्य को अर्घ्य के साथ सम्पन्न होगा। महापर्व छठ को शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराने हेतु जिला प्रशासन कृत संकल्पित है। छठव्रतियों को किसी भी प्रकार की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े, इसका विशेष ध्यान रखना है। सभी अधिकारी संवेदनशीलता के साथ अपने-अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का निवर्हन तत्परतापूर्वक करेंगे।घाटों एवं आने-जाने वाले रास्ते में पर्याप्त रौशनी, खतरनाक घाटों की बैरिकेडिंग, घाटों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम, मेडिकल टीम आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करने‌ का डीएम ने दिया निर्देश।उन्होंने कहा कि छठ पूजा के अवसर पर विभिन्न घाटों पर व्रतियों के साथ बच्चों, महिलाओं, युवकों एवं वृद्धों की भारी भीड़ एकत्र होती है, एवं भगदड़ होने की संभावना रहती है। नदी, तालाबों में कोई डूबे नहीं, इस हेतु एहतियातन सभी आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित की जाय।
छठ महापर्व को लेकर विधि-व्यवस्था संधारण एवं श्रद्धालुओं की सुविधा के मद्देनजर की जा रही तैयारियों की जिलाधिकारी तुषार सिंगला के द्वारा वीसी के माध्यम से सीओ, एसएचओ तथा बीडीओ, एसडीएम,एसडीपीओ व जिला स्तरीय पदाधिकारियों के साथ कार्यालय कक्ष में समीक्षा की गयी।छठ घाट पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को लेकर ऐहतियातन सभी प्रकार की व्यवस्थाएं सुदृढ़ रखनी हैै। छठ घाटों सहित आने-जाने वाले मार्गों की समुचित साफ-सफाई, पर्याप्त रौशनी, खतरनाक घाटों की बैरिकेडिंग, घाटों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम, मेडिकल टीम आदि की व्यवस्थाएं रहनी चाहिए। बड़े घाटों पर सीसीटीवी का अधिष्ठापन आवश्यक है।
जिलाधिकारी ने कहा कि अर्घ्य के समय बच्चे नदी, तालाबों आदि के पास नहीं जाए, इस पर विशेष ध्यान देना होगा। इस हेतु पब्लिक एड्रेस सिस्टम से लगातार मैसेज प्रसारित किया जाय। नावों के परिचालन पर पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा। छठ घाटों पर पटाखों की बिक्री एवं संचालन को नियंत्रित किया जाना है।
उन्होंने कहा कि सभी संबंधित प्रत्येक छठ घाटों का फिजिकल वेरिफिकेशन करेंगे। बांस आदि के माध्यम से घाटों की गहराई का आकलन कर लेंगे। खतरनाक घाटों पर फ्लैक्स, बैनर का अधिष्ठापन कराना सुनिश्चित करेंगे ताकि दुर्घटना की संभावना नहीं रहे। खतरनाक घाटों की समुचित घेराबंदी की जाए तथा वहाँ पर स्पष्ट सूचक बोर्ड एवं झन्डे पर्याप्त संख्या में लगाया जाय।
उन्होंने निर्देश दिया कि छठ महापर्व को लेकर छठ घाटों पर किये जा रहे कार्यों की लगातार माॅनिटरिंग एवं निरीक्षण सभी एसडीएम करेंगे। नगर परिषद किशनगंज सहित सभी नगर निकायों के कार्यपालक पदाधिकारी तथा सभी प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत साफ-सफाई की विशेष व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे।
उन्होंने कहा कि महिला श्रद्धालुओं की सुविधा के मद्देनजर छट घाटों पर पर्याप्त संख्या में चेंजिंग रूम का अधिष्ठापन कराना सुनिश्चित किया जाय। इसके साथ ही अस्थायी शौचालय का निर्माण भी कराया जाय। एसडीआरएफ की टीम पूरी तरह मुस्तैद रहेगी और आवश्यकता पड़ने पर त्वरित गति से कार्रवाई सुनिश्चित करेगी।
एसडीपीओ ने कहा कि छठ महापर्व को लेकर सभी थानाध्यक्ष अलर्ट रहेंगे। नदियों में नाव का परिचालन नहीं हो, इसे सुनिश्चित करेंगे। असामाजिक तत्वों पर नजर बनाकर रखेंगे और उनके विरूद्ध विधिसम्मत कार्रवाई करेंगे।
जिलाधिकारी द्वारा जिलेवासियों अपील की गयी है कि जिलेवासी महापर्व छठ को कि शांतिपूर्ण, आपसी सौहार्द एवं भाईचारे के साथ मनाएं। किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। जिला प्रशासन द्वारा चाक-चैबंद व्यवस्था की जा रही है। छठव्रतियों की सुविधा का ख्याल रखते हुए पूजा आयोजन समितियों से समन्वय स्थापित कर छठ घाट, आने-जाने वाले मार्गों की समुचित साफ-सफाई, पर्याप्त रौशनी आदि की व्यवस्था की जा रही है।
इस अवसर पर सिविल सर्जन , अधीक्षक मद्य निषेध,एसडीएम, एसडीपीओ सहित सभी जिलास्तरीय पदाधिकारी, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, सभी अंचलाधिकारी आदि उपस्थित रहे तथा सभी सीओ,थानाध्यक्ष वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े रहे।

subodh kumar saha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *