सुबोध,
किशनगंज 22 दिसम्बर । एनएमसीजी से‌ अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय( एएमयू ) शाखा किशनगज के चकला में निर्माण की अनुमति में देने‌ में अत्यधिक समय तक रूकावट को‌ लेकर‌ यहां के सांसद डॉ .मो.जावेद‌ ने‌ लगातार पहल की और उन्होंने कहा समाधान के लिए एनएमसीजी महानिदेशक अशोक कुमार से मुलाकात सराहनीय रहा । सांसद ने कहा एएमयू शाखा निर्माण में अब बाधा दूर हो जाएगी
एनएमसीजी से एएमयू निर्माण की अनुमति में देने‌ में अत्यधिक समय रूकावट को‌ लेकर‌ क्षेत्रीय सांसद डॉ .मो.जावेद‌ ने‌ लगातार पहल की । सांसद ने‌ महागठबन्धन की सरकार के संबंधित विभाग से लगातार पत्राचार और संपर्क किया। परिणाम स्वरूप निर्माणधीन पुलिस लाइन की भूमि की तर्ज पर इस भूमि की बाढ़ की मैदानी क्षेत्र से बाहर होने की रिपोर्ट जारी करवा कर एनएमसीजी के संज्ञान में दिया गया।और इसके अलावा एएमयू शाखा की भूमि पर निर्माण कार्य के लिए प्रासंगिक बिहार सरकार के बिहार बिल्डिंग (संशोधित) बाय-लॉज का संदर्भ देते हुए इस भूमि पर निर्माण कार्य की अनुमति यथाशीघ्र जारी कराने का अनुरोध सांसद डॉ० मो० जावेद द्वारा किया गया है।रिपोर्ट के साथ एनएमसीजी के महानिदेशक अशोक कुमार से मिले और इस मुद्दे के समाधान के लिए सभी नियमों के पालन के बावजूद भी अनुमति जारी न होने पर सवाल उठाए और केंद्र के रवैए पर भी सदन में सवाल उठाए जा रहे हैं।
सांसद ने‌ महागठबन्धन की सरकार के संबंधित विभाग से लगातार पत्राचार और संपर्क किया। परिणाम स्वरूप निर्माणधीन पुलिस लाइन की भूमि की तर्ज पर एएमयू भूमि की बाढ़ की मैदानी क्षेत्र से बाहर होने की रिपोर्ट जारी करवा कर एनएमसीजी के संज्ञान में दिया गया।और इसके अलावा एएमयू शाखा की भूमि पर निर्माण कार्य के लिए प्रासंगिक बिहार सरकार के बिहार बिल्डिंग (संशोधित) बाय-लॉज का संदर्भ देते हुए एएमयू भूमि पर निर्माण कार्य की अनुमति यथाशीघ्र जारी कराने का अनुरोध सांसद डॉ० मो० जावेद द्वारा किया गया है। इस निमित रिपोर्ट के साथ एनएमसीजी के महानिदेशक अशोक कुमार से मिले और इस मुद्दे के समाधान के लिए सभी नियमों के पालन के बावजूद भी अनुमति जारी न होने पर सवाल उठाए और केंद्र के रवैए पर भी सदन में सवाल उठाए जाते रहे हैं।
उल्लेखनीय है कि 01 दिसंबर 2011 को बिहार सरकार ने किशनगंज शहर से लगभग 2-3 किलोमीटर दूर चकला और गोविंदपुर मौजा में 224.02 एकड़ जमीन एएमयू किशनगंज कैम्पस के लिए आवंटित की थी।साल 2008-2007 में तत्कालीन मनमोहन सिंह सरकार ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का एक कैम्पस किशनगंज में खोलने का ऐलान किया था। तत्कालीन राष्ट्रपति ने भी इसे हरी झंडी दे दी और 01 दिसंबर 2011 को बिहार सरकार ने किशनगंज शहर से लगभग 2-3 किलोमीटर दूर चकला और गोविंदपुर मौजा में 224.02 एकड़ जमीन भी आवंटित कर दी। 30 जनवरी 2014 को कांग्रेस अध्यक्ष और यूपीए की चेयरपर्सन रहीं सोनिया गांधी ने इसकी आधारशिला रखी और उसी साल 2014 में इस कैम्पस के निर्माण के लिए 136.82 करोड़ खर्च करने की घोषणा भी कर दी गई।एएमयू किशनगंज शाखा चकला‌ में निर्माण पर एनजीटी द्वारा रोक के निर्देश के आलोक में प्राधिकृत एनएमसीजी को‌ चकला स्थित स्थित 224 एकड़ भूमि पर महानंदा नदी के बाढ़ के मैदानी क्षेत्र से दूर होने की नियम और शर्तों के पालन की जांच परख के बाद निर्माण कार्य की अनुमति जारी करना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *