10 महाविद्या की आराधना का महापर्व है माघी गुप्त नवरात्र : डॉ रणबीर नंदन

10 महाविद्या की आराधना का महापर्व है माघी गुप्त नवरात्र : डॉ रणबीर नंदन

माघ माह की गुप्त नवरात्रा के प्रथम दिन गर्दनीबाग ठाकुर बारी में की गई पूजा अर्चना, बांटा गया खिचड़ी महाभोग प्रसाद

विजय शंकर

पटना/10फरवरी।। माघ माह की नवरात्रा के प्रथम दिन गर्दनीबग ठाकुरबारी में प्रथम महाविद्या महाकाली को खिचड़ी भोग प्रसाद अर्पण किया गया और हजारों भक्तों ने खिचड़ी भोग प्रसाद ग्रहण किया। इस मौके गर्दनीबाग ठाकुरबारी प्रबंध न्यास यास समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व विधान पार्षद डॉ रणवीर नंदन ने दुर्गा दरबार एवं महाकाली की आरती संपन्न की एवं खिचड़ी भोग प्रसाद का भक्तों में वितरण किया। प्रोफ़ेसर नंदन ने कहा कि 10 महाविद्या साधना का पर्व है माघी गुप्त नवरात्रा। सनातन धर्म में नवरात्रि का त्योहार को सर्वाधिक महत्वपूर्ण माना जाता है। इस नवरात्रा में तंत्र साधना का विशेष महत्व है और यह देवी की 10 महाविद्याओं की साधना, तंत्र शक्ति और सिद्धियों के लिए कि जाती है। चुकि तंत्र साधना करने वाले इन महाविद्या की पूजा एवं साधना गुप्त रुप से करते हैं इसलिए इस नवरात्रि को गुप्त नवरात्रि कहा जाता है। 10 महाविद्या यथा काली, तारा, षोडशी ,भैरवी ,भुवनेश्वरी, छिन्न मस्ता, धुमावती ,बगला,कमला एवं मातंगी अपने भक्तों को प्रत्यक्ष रुप में मदद करती है और निर्भय रखती है। इस मौके पर गर्दनीबाग ठाकुरबारी के पुजारी सत्य प्रकाश पांडेय, काली पुजारी मुकेश रंजन झा, राजीव रंजन झा , अमित कुमार , अभिषेक वर्मा,अमन वर्मा ,अमरेश कुमार, जितेन्द्र दीक्षित, विकास रंजन झा, निर्भय सुंदर सहित सैकड़ों के संख्या में भक्तजन मौजूद थे।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *