नवराष्ट्र मीडिया ब्यूरो

समस्तीपुर : हसनपुर प्रखण्ड क्षेत्र के मरांची उजागर में सनातन धर्म संस्कृति के द्वारा भगवान श्रीराम के अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण एवं प्राण प्रतिष्ठा समारोह के अवसर पर भव्य कलश शोभायात्रा करके किया गया अष्टयाम यज्ञ आरम्भ । इस अवसर पर हसनपुर प्रखण्ड के पूर्व प्रमुख सह भाजपा नेता सुभाषचंद्र यादव ने कहा कि आज 22 जनवरी को अयोध्या मंदिर में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम जी का प्राण प्रतिष्ठा हुआ है । उन्होंने बताया कि भगवान श्रीराम संपूर्ण वांग्मय के देवता हैं । राम सबके हैं सब राम के हैं इसकी प्रमाणिकता तुलसी दास जी के सियाराम यम सबजग जानी से होता है । उन्होंने मर्यादा का कभी भी उल्लंघन नहीं किया चाहें कैसी भी परिस्थिति क्यूं न हो । धनुष तोड़ कर उन्होंने सिर्फ गुरु आज्ञा का पालन किया । वे ये समझ भी नहीं रहें थे कि हो क्या रहा है । पुरूषोत्तम श्रीराम राज तिलक के बदले बनवास मिला, जिसे श्रीराम जी सहर्ष स्वीकार किया पारिवारिक सांस्कृतिक मर्यादा की रक्षा के लिए उन्होंने लंका पर चढ़ाई किए और माँ जानकी को सुरक्षित वापस लाए । राजा होते हुए उन्होंने एक पत्नी वर्त का पालन किया जनता की भावना और सुरक्षा के लिए सदैव तत्पर रहें । राम स्वयं में एक व्यक्ति नहीं बल्कि आदर्श थे । जिनके आदर्शों पर चलकर मनुष्य सफल जीवन जी सकते हैं । सुभाषचंद्र यादव ने कहा बर्बर आक्रमणकारियों ने देश से सनातन धर्म को मिटाने के लिए अनेकों मंदिरों को तोड़ा जिसका शिकार रामजन्म भूमि भी हुआ जिसकी रक्षा और निर्माण के लिए सदियों से संघर्ष जारी रहा जिसमें लाखों लोग वीरगति को प्राप्त हो गए हजारों संतों महंतों ने अपने प्राण त्याग दिए । उसी समय जगद गुरु रामानंदाचार्च जी ने अपने शिष्यों के द्वारा सख्त विरोध किया और उनके शिष्य स्वामी वाला नंद जी ने अखाड़ा परिषद का निर्माण कर विध्रमी शासक का विरोध किया और भयंकर युद्ध हुआ तो धर्म की रक्षा हुई विशेष धार्मिक कर जजिया कर लगाया फिर भी सनातन धर्मावलंबियों ने स्वीकार किया और अपने धर्म पर कायम रहे यह विवाद गुलामी की याद दिला रहे थे सनातन धर्म संस्कृति के मंदिरों की रक्षा और निर्माण प्रत्येक सनातन धर्मावलंबियों का जन्म सिद्ध अधिकार है । सनातन धर्म किसी का विरोध नहीं करता है सबका सम्मान करता है संसार में दो दंड महत्वपूर्ण है राजदंड और धर्म दंड धर्म दंड ही हमारी रक्षा सदैव करता है । धर्मों रक्षति रक्षित:। मौके पर डॉ रामकुमार यादव, भारती कॉन्सेप्ट के निदेशक अजय कुमार, रामनारायण अग्रवाल, दिना साह, रामचन्द्र यादव,रामप्रीत ठाकुर, अशोक यादव, बैजनाथ यादव, अमीत कुमार, अशोक चौधरी, परमजीत कुमार, श्रीराम यादव, कन्हैया कुमार, लल्लू यादव, कृष्ण कुमार, गुंजन, गुल्लू समेत अन्य हजारों श्रद्धालुओं ने अष्टयाम यज्ञ कलश यात्रा में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *