नव राष्ट्र मीडिया

पटना।

पप्पू यादव ने अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय कर लिया. लोकसभा चुनाव से पहले पूर्व सांसद ने जन अधिकार पार्टी का कांग्रेस में विलय करने का फैसला लिया. वो पूर्णिया सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ सकते हैं. उनकी पत्नी रंजीत रंजन कांग्रेस की राज्यसभा सांसद हैं. उनके बेटे सार्थक रंजन भी कांग्रेस में शामिल हो गए. सूत्रों के मुताबिक, पप्पू यादव को कांग्रेस में शामिल कराने के पीछे प्रियंका गांधी ने अहम भूमिका निभाई.

कांग्रेस में शामिल होने के बाद पप्पू यादव ने कहा कि जन अधिकार पार्टी तीन चुनाव लड़ा है. इसमें दो विधानसभा और एक लोकसभा का चुनाव शामिल है. इस पार्टी ने लंबा संघर्ष किया है. हमारी पार्टी सेवा, न्याय और संघर्ष के लिए जानी जाती है. हमारी पूरी विचारधारा कांग्रेस की आइडियोलॉजी के साथ रही है. कांग्रेस की विचारधारा हमेशा हमें ऊर्जा देती रही है. हमारी राजनीति की नींव सेक्यूलर रही है. किसी भी धर्म पर कोई हमला नहीं. हर परिस्थिति में दूसरे के विचारों का सम्मान मेरा इतिहास रहा है। कहा कि देश की राजनीति में बदलाव के लिए वह कांग्रेस में शामिल हुए हैं। कहा, “दुनिया के सबसे बड़े तानाशाह से लड़ने की हिम्मत राहुल गांधी में हैं. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का विश्वास मेरे लिए सबकुछ है. दो लोगों के विश्वास ने हमें हिम्मत दी है. हिंदुस्तान के लोगों को दिल किसी ने जीता है तो वो राहुल गांधी हैं. किसी ने लोगों में उम्मीद जगाई है वो राहुल गांधी हैं. उनकी सामाजिक न्याय को लेकर जो कमिटमेंट है, हमने उससे प्रभावित होकर कांग्रेस में शामिल होने का फैसला किया. हम लालू यादव और तेजस्वी यादव मिलकर 2024 का चुनाव और 2025 का विधानसभा चुनाव भी जीतेंगे.” दिल्ली में हुए मिलन समारोह में बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह नहीं दिखे ,लेकिन अन्य तमाम बड़े नेता वहां मौजूद थे।

इसके पहले मंगलवार को पप्पू यादव ने आरजेडी चीफ लालू यादव और बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के साथ मुलाकात की थी. मुलाकात की तस्वीर शेयर करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि पारिवारिक माहौल में मुलाक़ात हुई. मिलकर बिहार में बीजेपी को जीरो पर आउट करने की रणनीति पर चर्चा हुई. बिहार में इंडिया गठबंधन की मज़बूती, सीमांचल, कोसी, मिथिलांचल में 100 फीदी सफलता लक्ष्य है.

लालू और तेजस्वी से मुलाकात के बाद पप्पू यादव ने सोशल मीडिया पर तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा- ‘आज अभिभावक पिता तुल्य आदरणीय लालू जी, माननीय नेता प्रतिपक्ष भाई तेजस्वी जी के साथ पारिवारिक माहौल में मुलाकात! मिलकर बिहार में BJP को जीरो पर आउट करने की रणनीति पर चर्चा हुई।

बिहार में INDIA गठबंधन की मजबूती, सीमांचल, कोसी, मिथिलांचल में 100% सफलता लक्ष्य है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *