vijay shankar

पटना : जिलाधिकारी, पटना डॉ. चंद्रशेखर सिंह द्वारा आज धान अधिप्राप्ति में प्रगति की समीक्षा की गयी। उन्होंने अधिकारियों को धान अधिप्राप्ति में तेजी लाने का निदेश दिया।

जिला सहकारिता पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि पटना जिला में कुल चयनित पैक्सों/व्यापारमंडल की संख्या 281 है जिसमें 270 पैक्स एवं 11 व्यापारमण्डल है। अधिप्राप्ति वर्ष 2023-24 अंतर्गत धान की बिक्री हेतु अबतक 36,011 किसानों द्वारा ऑनलाईन निबंधन किया गया है जिसमें 14,265 रैयत एवं 21,746 गैर रैयत है। जिला का धान उत्पादन 6,93,293.5 मे.टन है। सांकेतिक धान खरीद का लक्ष्य 2,04,865 मे.टन है। नमी मापक यंत्र की संख्या 281 है।

अबतक कुल 278 सक्रिय समितियों के माध्यम से ऑनलाईन पंजीकृत कुल 10,532 किसानों से 74,158.123 मे. टन धान क्रय किया गया है।

बैंक से कैश क्रेडिट स्वीकृति की राशि 242.33 करोड़ रुपया है।

क्रय किए गए धान का मूल्य @ 2,183+25/क्विंटल की दर से कुल भुगतेय राशि 1,63,74,11,356.00 रुपये के विरूद्ध 7,338 किसानों को 1,16,95,41,918.72 रुपये बैंक से भुगतान किया गया है।

24 राइस मिल का सत्यापन कर लिया गया है। राइस मिल से संबद्ध समितियों की संख्या 236 है।

डीएम डॉ. सिंह द्वारा क्रय किए गए धान के विरूद्ध किसानों को राशि के भुगतान किए जाने की प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश दिया गया तथा किसानों के लंबित राशि का भुगतान पीएफएमएस के माध्यम से 48 घंटे के अंदर करने का प्रबंध निदेशक, पाटलिपुत्र को-ओपरेटिव बैंक, पटना को निदेश दिया गया। उन्होंने कहा कि किसी भी परिस्थिति में किसी भी किसान का भुगतान लंबित न रहे।

डीएम डॉ. सिंह द्वारा सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रांतर्गत प्रखंडों के निर्धारित लक्ष्य के अनुसार धान अधिप्राप्ति करने के लिए नियमित अनुश्रवण करने का निदेश दिया गया।

डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि सभी अनुमंडल पदाधिकारी, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, पटना जिला अपने क्षेत्रान्तर्गत गुणवत्तापूर्ण अधिप्राप्ति हेतु जिम्मेवार होंगे। उक्त क्रम में वे क्रय केन्द्रों पर नियमित निरीक्षण करते हुए विभागीय निदेशों का सख्ती से अनुपालन करायेंगे। किसी भी परिस्थिति में ऑनलाईन चयनित किसानों से ही धान क्रय किया जाए। बिचौलिये या अन्य कोई संगठन से क्रय किये जाने का मामला प्रकाश में आने पर इसे गंभीरता से लिया जाएगा। डीएम डॉ. सिंह ने निदेश दिया कि सभी प्रखण्डों के नोडल पदाधिकारी सरकार के निदेशानुसार सप्ताह में तीन दिन क्षेत्र का भ्रमण कर क्रय केन्द्रों का निरीक्षण करेंगे एवं क्षेत्र भ्रमण कर धान बिक्री करने वाले किसानों से साक्षात्कार कर सत्यापन करेंगे एवं प्रतिवेदन समर्पित करेंगे।

डीएम डॉ. सिंह ने शत-प्रतिशत चयनित समितियों को अविलंब सक्रिय करने का निर्देश जिला सहकारिता पदाधिकारी को दिया गया।

डीएम डॉ. सिंह ने सभी पैक्सों एवं मिलों के टैगिंग कार्य को तेजी से करने का निदेश दिया। मिल टैगिंग का प्रस्ताव प्रखंड सहकारिता प्रसार पदाधिकारी अविलंब अनुमंडल पदाधिकारी से अनुमोदित करा कर भेजना सुनिश्चित करेंगे।

डीएम डॉ. सिंह ने सभी अनुमोदित समितियों को सीसी लिमिट उपलब्ध कराकर अविलंब धान क्रय प्रारंभ कराना सुनिश्चित करने का निदेश दिया।

डीएम डॉ. सिंह ने जिला प्रबंधक, राज्य खाद्य निगम तथा जिला सहकारिता पदाधिकारी को निदेश दिया कि अनुमंडलवार भ्रमण कर लक्ष्य के अनुसार तीव्र गति से कराना सुनिश्चित की जाए।

डीएम डॉ. सिंह ने निदेश दिया कि धान क्रय की रिर्पाेटिंग मोबाईल ऐप के माध्यम से प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी से प्राप्त कर समेकित प्रतिवेदन जिला सहकारिता पदाधिकारी द्वारा दैनिक रूप से जिला आपूर्ति कार्यालय को उपलब्ध कराया जायेगा।

डीएम डॉ. सिंह ने सभी संबद्ध पदाधिकारियों को धान अधिप्राप्ति कार्य में सजग एवं तत्पर रहने का निदेश दिया है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *